पीडीएस खाद्यान्न घोटाला: प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्ट्र में 4.06 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की

PDS food grain scam: Enforcement Directorate attaches assets worth Rs 4.06 crore in Maharashtra

पीडीएस खाद्यान्न घोटाला: प्रवर्तन निदेशालय ने महाराष्ट्र में 4.06 करोड़ रुपये की संपत्ति कुर्क की

प्रवर्तन निदेशालय Enforcement Directorate(ईडी) ने इंडिया मेगा एग्रो अनाज लिमिटेड और अन्य के सार्वजनिक वितरण प्रणाली (पीडीएस) खाद्यान्न घोटाले मामले में महाराष्ट्र के हिंगोली, यवतमाल और नांदेड़ जिलों सहित अन्य इलाकों से कुल 4.06 करोड़ रुपये की अचल संपत्ति कुर्क की है। एजेंसी ने सोमवार को यह जानकारी दी। ईडी की नागपुर इकाई ने 30 मई को धन शोधन निवारण अधिनियम (पीएमएलए), 2002 के तहत संपत्ति कुर्क की। 

कुर्की की गई संपत्तियों में इंडिया मेगा एग्रो अनाज लिमिटेड कंपनी, इसके प्रमोटर अजय चंद्रप्रकाश बहेती और उनके परिवार के सदस्यों द्वारा अर्जित अचल संपत्तियां शामिल हैं। ईडी ने महाराष्ट्र Maharashtra पुलिस द्वारा नांदेड़ जिले में भारतीय दंड संहिता, 1860 की विभिन्न धाराओं के तहत दर्ज की गई प्रथम सूचना रिपोर्ट और आरोपपत्रों के आधार पर जांच शुरू की, जिसमें भारतीय खाद्य निगम (एफसीआई) जवाहर नगर टुप्पा के गोदाम से गेहूं और चावल की आवश्यक वस्तुओं को बहेटी ग्रुप इंडिया मेगा एग्रो अनाज लिमिटेड की कंपनी में अवैध रूप से ले जाने का खुलासा हुआ।

Read More मुंबई में आपातकालीन व्यवस्था की समीक्षा, नगर निगम आयुक्त के विभागाध्यक्षों को निर्देश...

ईडी ने कहा कि इंडिया मेगा एग्रो अनाज कंपनी के मालिक अजय बहेटी पीडीएस की पूरी मशीनरी, जैसे ट्रक ड्राइवर, ट्रक मालिक, डिलीवरी लेने वाले जिला स्थान के प्रतिनिधि, तहसील स्थान और नांदेड़ और हिंगोली जिलों में गोदाम के रखवाले, राशन अनाज का परिवहन करने वाले ठेकेदार, उनके प्रतिनिधि, विभिन्न व्यापारिक कंपनियों के मालिक और बिचौलिए के साथ एक "विस्तृत साजिश" का हिस्सा थे और सब्सिडी दरों पर सार्वजनिक वितरण के लिए आए खाद्यान्न को निजी इस्तेमाल के लिए गलत तरीके से हड़प लिया।

Read More कल्याण में लड़की को शादी का प्रलोभन देकर 60 लाख की धोखाधड़ी !

एजेंसी ने कहा, "फोरेंसिक ऑडिट रिपोर्ट से पता चला है कि आरोपी अजय बहेती ने अपनी कंपनी के खातों की किताबों में हेराफेरी की, ताकि दागी लेन-देन के लिए कागजी कार्रवाई की जा सके और अपराध की आय में डायवर्ट किए गए अनाज को बेदाग दिखाया जा सके।" ईडी की जांच में आगे पता चला कि अजय बहेती ने अपने कर्मचारियों के नाम पर फर्जी ट्रेडिंग कंपनियों के नेटवर्क का इस्तेमाल किया और उन नामों से बैंक खाते खोले गए।

Read More दो से अधिक बच्चों वाला व्यक्ति किसी हाउसिंग सोसायटी का समिति सदस्य नहीं हो सकता - उच्च न्यायालय

जनवरी 2018 से जुलाई 2018 की जांच अवधि के दौरान विभिन्न फर्जी संस्थाओं से फर्जी अनाज खरीद के खिलाफ अजय बहेती द्वारा किए गए भुगतानों के एकत्रीकरण के आधार पर ईडी जांच के दौरान एफसीआई गोदामों से इंडिया मेगा एग्रो अनाज लिमिटेड में कुल 55.27 करोड़ रुपये के खाद्यान्न के डायवर्जन को "अपराध की आय" के रूप में अनुमानित किया गया था। अजय चंद्रप्रकाश बहेती को 24 जून, 2021 को ईडी नागपुर ने गिरफ्तार किया था। इस मामले में अगस्त 2021 में अभियोजन शिकायत दर्ज की गई थी।

Read More मुंबई के कालाचौकी इलाके में लड़की का यौन उत्पीड़न करने के आरोप में किराना दुकान कर्मचारी गिरफ्तार

 

 

Tags:

Today's E Newspaper

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

पुणे में पिता और चाचा ने की बेटी के साथ दरिंदगी... चचेरा भाई ने कई बार किया बलात्कार पुणे में पिता और चाचा ने की बेटी के साथ दरिंदगी... चचेरा भाई ने कई बार किया बलात्कार
मां के शिकायत के अनुसार सबसे पहले पीड़िता के चचेरे भाई ने जुलाई 2023 में उससे कथित तौर पर दुष्कर्म...
पुणे / समय सीमा के बाद भी बेची जा रही थी शराब, 8 गिरफ्तार... 4 पुलिसकर्मी सस्पेंड
50-50 के फॉर्मूले पर चुनाव महाराष्ट्र में लड़ेगी महायुति, जानें कौन कितनी सीटों पर लडे़गा चुनाव
नागपुर में शख्स ने प्रेमिका के 4 वर्षीय बेटे को ट्रेन में लावारिस छोड़ा, रचा अपहरण का नाटक
नालासोपारा पूर्व में सेक्स रैकेट का पर्दाफाश... दो महिलाओं को पुलिस ने कराया मुक्त
घाटकोपर में होर्डिंग लगाने के लिए किसे दी गई थी 46 लाख की रिश्वत ? भाजपा नेता ने डिप्टी CM से की कार्रवाई की मांग !
ठाणे में बुजुर्ग कारोबारी से 20 लाख की ठगी !

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media