Delhi में सबसे बड़ी साइबर ठगी, महिला डॉक्टर के खाते से उड़ाए 4.5 करोड़

Delhi's biggest cyber theft from an individual victim, in which a 34-year-old woman doctor was defrauded of Rs 4.5 crore...

Delhi में सबसे बड़ी साइबर ठगी, महिला डॉक्टर के खाते से उड़ाए 4.5 करोड़

साइबर ठगों ने दिल्‍ली की एक महिला डॉक्टर को अपने जाल में फंसाकर 4.5 करोड़ रुपये उड़ा दिए। इसे दिल्‍ली की सबसे बड़ी साइबर ठगी बताया जा रहा है।

देश की राजधानी दिल्ली में सबसे बड़ी साइबर ठगी सामने आई है। यहां साइबर अपराधियों ने एक महिला डॉक्टर के खाते से 4.47 करोड़ रुपये ऐंठ लिए। अपराधियों ने खुद को नारकोटिक्स डिपार्टमेंट का अधिकारी बताकर इस पूरे मामले को अंजाम दिया। दूसरी तरफ पीड़ित डॉक्टर ने इस मामले की शिकायत पुलिस में की है। पुलिस ने एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू कर दी है।
 
अधिकारियों ने बताया, 34 वर्षीय महिला डॉक्टर से साइबर ठगी FedEx पैकेज के माध्यम से की गई। महिला डॉक्टर को एक कॉल पर बताया गया कि उनके पैकेज को सीज कर दिया गया है, क्योंकि उसमें एमडीएमए ड्रग मिला है। कॉल पर अपराधियों ने खुद को महाराष्ट्र नारकोटिक्स विभाग का अधिकारी बताया और महिला पर आरोप लगाया कि वह ड्रग के कारोबार से जुड़ी हुई है।
 
97558268
 
महिला डॉक्टर ने बताया कि पांच मई को उसके पास एक अनजान नंबर से फोन आया। कॉलर ने खुद को FedEx का कर्मचारी बताया। मुझसे बताया गया कि मेरा पैकेज सीज हो गया है। महिला डॉक्टर ने आगे बताया कि कॉलर ने बताया कि पैकेज में उसके कुछ सामान के साथ एमडीएम ड्रग मिला है, जिस वह से पैकेज को सीज कर दिया गया है। जब महिला अधिकारी ने उसे किसी पार्सल की जानकारी होने से इंकार किया तो उससे अंधेरी पुलिस स्टेशन पर शिकायत दर्ज कराने को कहा गया।
 
यह पूरा खेल स्काइप ऐप के माध्यम से हुआ। महिला डॉक्टर ने बताया कि कॉलर ने उसकी कॉल किसी इंस्पेकटर स्मिता पाटिल को ट्रांसफर कर दी। इसके बाद मुझे सलाह दी गई कि मैं ऑनलाइन अपनी शिकायत दर्ज करा सकती हूं, इसके लिए मुझे स्काइप ऐप डाउनलोड करना होगा। जब महिला डॉक्टर ने स्काइप डाउनलोड कर लिया, उसके बाद इंस्पेक्टर पाटिल होने का दावा करने वाली महिला उनसे स्काइप के जरिए जुड़ी। इसके बाद मुझसे इसी आईडी पर अपना बयान दर्ज कराने का कहा गया।
 
महिला डॉक्टर ने बताया कि स्काइप पर इंस्पेक्टर पाटिल होने का दाव करने वाली महिला ने बताया कि उस पर मनी लॉन्ड्रिंग का शक है। ऐसे में उसे अपने सभी खातों में बैलेंस की जानकारी देनी होगी। इसके बाद जैसे वह महिला कहती गई, पीड़ित डॉक्टर ने वैसा ही किया। इसके बाद उसे कॉल पर एक के बाद एक कथित पुलिस अधिकारियों से भी बात कराई गई। कॉल पर महिला अधिकारी को सलाह दी गई कि वह इस मामले में किसी अन्य को शामिल न करें, क्योंकि ऐसा करने से उन्हें भी मनी लॉन्ड्रिंग में अपराधी माना जाएगा।
 
महिला डॉक्टर ने बताया कि कॉल के दौरान एक व्यक्ति ने उससे खुद को आरबीआई का अधिकारी बनकर बात की। डॉक्टर से कहा गया कि उसके खाते में जमा रकम अवैध तरीके से कमाई गई है। ऐसे में इस रकम को आरबीआई के खाते में ट्रांसफर करनी होगी। वैरिफिकेशन के बाद इस रकम को वापस कर दिया जाएगा। इसके बाद थोड़ा-थोड़ा करके महिला अधिकारी के खाते से 4.47 करोड़ रुपये ऐंठ लिए गए। इतना ही नहीं साइबर अपराधिकयों ने महिला को आरबीआई के नाम पर एक चिट्ठी तक भेज दी। साथ ही स्काइप पर हुई बातचीत को डिलीट करने को भी कहा गया।

Citizen Reporter

Report Your News

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

झारखंड की राजनीति गरमाई...  कांग्रेस के नाराज आठ विधायक दिल्ली में जमे झारखंड की राजनीति गरमाई... कांग्रेस के नाराज आठ विधायक दिल्ली में जमे
जमीन घोटाले में हेमंत सोरेन को ईडी द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद चंपई सोरेन ने सीएम की कुर्सी संभाली...
1100 करोड़ की मेफेड्रोन जब्त, तीन गिरफ्तार... एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज
महाराष्ट्र में मुस्लिम आरक्षण के लिए भी विधेयक लाए सरकार - अबू आजमी
ग्लोबल वार्मिंग : मुंबई, कोलकाता, दुबई, लंदन और न्यूयॉर्क समेत दुनिया के 36 बड़े शहर जल्द ही गहरे समंदर में डूब सकते हैं
मुंबई एयरपोर्ट पर 80 वर्षीय यात्री की मौत पर डीजीसीए से मांगी रिपोर्ट...
अजीत पवार के नेतृत्व वाले एनसीपी गुट ने स्पीकर के फैसले को बॉम्बे हाई कोर्ट में दी चुनौती...
लोकसभा चुनाव की घोषणा चुनाव आयोग 9 मार्च के बाद घोषणा कर सकता तारीखों का ऐलान

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media