दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर 14 घंटे से ज्यादा चली CBI की छापेमारी... फोन, कंप्यूटर समेत कई फाइलें जब्त!

CBI raids Delhi's Deputy Chief Minister Manish Sisodia's house lasted for more than 14 hours ... many files including phone, computer seized!

दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के घर 14 घंटे से ज्यादा चली CBI की छापेमारी... फोन, कंप्यूटर समेत कई फाइलें जब्त!

दिल्ली आबकारी नीति मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा 14 घंटे से ज्यादा समय की छापेमारी के बाद दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास से सीबीआई के अधिकारी रवाना हुए। CBI ने सिसोदिया के घर से कई दस्तावेज बरामद किए हैं। सिसोदिया का फोन और कंप्यूटर जब्त कर लिया गया है।

नई दिल्ली :  दिल्ली आबकारी नीति मामले में केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (सीबीआई) द्वारा 14 घंटे से ज्यादा समय की छापेमारी के बाद दिल्ली के उप मुख्यमंत्री मनीष सिसोदिया के आवास से सीबीआई के अधिकारी रवाना हुए। CBI ने सिसोदिया के घर से कई दस्तावेज बरामद किए हैं। सिसोदिया का फोन और कंप्यूटर जब्त कर लिया गया है।

CBI की छापेमारी के बाद मनीष सिसोदिया ने मीडिया से बातचीत के दौरान कहा, CBI की टीम ने पूरे घर की तलाशी ली है, मेरा फोन और कंप्यूटर सीज करके ले गए हैं। हमने जांच में पूरा सहयोग दिया है और आगे भी पूरा सहयोग देंगे। हमने कोई गलत काम नहीं किया इसलिए हम डरते नहीं है। CBI को ऊपर से कंट्रोल किया जा रहा है।

सिसोदिया ने केंद्र सरकार पर तंज कसते हुए कहा, CBI को ऊपर से कंट्रोल करके दिल्ली सरकार के अच्छे काम को रोकने की कोशिश की जा रही है। हम ईमानदार लोग हैं, हमने कहीं कुछ गलत काम नहीं किया है। केंद्र सरकार जितना CBI का दुरुपयोग करना चाहें कर लें क्योंकि हमने कोई गलत काम नहीं किया है।

उन्होंने (CBI) मुझे (आगे की पूछताछ के लिए) नहीं बुलाया है। CBI ने मेरा कंप्यूटर, फोन और कुछ फाइलें ले ली हैं। जांच एजेंसी ने दावा किया है कि सिसोदिया के निकट सहयोगी की कंपनी को कथित रूप से एक करोड़ रुपये का भुगतान किया गया है।

सीबीआई ने बुधवार को भारतीय दंड संहिता की धारा 120-बी (आपराधिक साजिश), 477-ए (अभिलेखों के मिथ्याकरण) और भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम की धारा-सात सहित भारतीय दंड संहिता की विभिन्न धाराओं के तहत दायर अपनी प्राथमिकी में सिसोदिया और 14 अन्य लोगों के खिलाफ मामला दर्ज किया था।

अधिकारियों ने बताया कि सीबीआई ने पिछले साल नवंबर में लाई गई दिल्ली आबकारी नीति बनाने और उसके क्रियान्वयन में कथित अनियमितताओं के संबंध में एक प्राथमिकी दर्ज करने के बाद सिसोदिया और भारतीय प्रशासनिक सेवा (आईएएस) के अधिकारी आरव गोपी कृष्ण के परिसरों के अलावा 29 स्थानों पर शुक्रवार को छापा मारा।

अधिकारियों के अनुसार, सिसोदिया, कृष्ण, पूर्व आबकारी उपायुक्त आनंद कुमार तिवारी, सहायक आबकारी आयुक्त पंकज भटनागर, अमित अरोड़ा, दिनेश अरोड़ा और अर्जुन पांडेय को प्राथमिकी में नामजद किया गया है। आरोपियों की सूची में छह अन्य कारोबारी एवं दो कंपनियां शामिल हैं। 

Citizen Reporter

Report Your News

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

कल्याण रेलवे स्टेशन के पास मिले 54 डेटोनेटर, बम स्क्वाड को मौके पर बुलाया गया आगे की जांच शुरू... कल्याण रेलवे स्टेशन के पास मिले 54 डेटोनेटर, बम स्क्वाड को मौके पर बुलाया गया आगे की जांच शुरू...
मुंबई से सटे कल्याण रेलवे स्टेशन के प्लेटफार्म नंबर 1 के बाहर कुल 54 डेटोनेटर बरामद किए गए हैं। रेलवे...
नवी मुंबई में महंगा मोबाइल और कार का दिया लालच, 66 लाख रुपए डूबे
अजित खेमे की याचिका पर हाईकोर्ट का महाराष्ट्र विधानसभा स्पीकर को नोटिस...
मुंबई यूथ कांग्रेस के अध्यक्ष बने अखिलेश यादव... जीशान सिद्दीकी पर क्यों गिरी गाज ?
ट्रांसजेंडर को मुंहमांगा नेग नहीं मिला तो 3 महीने के बच्चे को मार डाला...
मुंबई हाईवे पर पुलिस की अवैध तस्करी को लेकर कार्रवाई !
झारखंड की राजनीति गरमाई... कांग्रेस के नाराज आठ विधायक दिल्ली में जमे

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media