नागपुर में सीबीआई ने इनकम टैक्स के ९ अफसरों को किया गिरफ्तार...

CBI arrested 9 officers of Income Tax in Nagpur...

नागपुर में सीबीआई ने इनकम टैक्स के ९ अफसरों को किया गिरफ्तार...

विपक्ष के खिलाफ मोदी सरकार अपनी जांच एजेंसियों का भरपूर इस्तेमाल कर रही है। हर विपक्ष शासित राज्य में इसका नजारा देखा जा सकता है। इन जांच एजेंसियों में ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स, एनआईए आदि प्रमुख हैं।

मुंबई : विपक्ष के खिलाफ मोदी सरकार अपनी जांच एजेंसियों का भरपूर इस्तेमाल कर रही है। हर विपक्ष शासित राज्य में इसका नजारा देखा जा सकता है। इन जांच एजेंसियों में ईडी, सीबीआई, इनकम टैक्स, एनआईए आदि प्रमुख हैं। मगर लगता है अब इन जांच एजेंसियों के बीच आपस में ही ठोकमठाक शुरू हो गई है। खबर है कि सीबीआई ने इनकम टैक्स के ९ अफसरों को गिरफ्तार कर लिया है।

मिली जानकारी के अनुसार सीबीआई ने नागपुर में इनकम टैक्स विभाग के ९ अफसरों को गिरफ्तार किया है। इन अफसरों पर आरोप है कि उन्होंने साल २०१२-१४ में कर्मचारी चयन आयोग की परीक्षा में अपनी जगह डमी उम्मीदवारों को बैठाया था।

इस मामले में २०१८ में केस दर्ज किया गया था। ४ साल बाद जांच में पुख्ता सबूत पाए जाने के बाद कार्रवाई की गई है। सोचने की बात है कि जिस अफसर ने फर्जीवाड़ा करके पद पाया हो वो किसी मामले की जांच में कितनी निष्पक्षता रख पााएगा?

जानकारी के मुताबिक, सीबीआई की एसीबी ब्रांच ने नागपुर में ६ मार्च, २०१८ को केस दर्ज किया था। इसमें आरोपियों के खिलाफ धारा १२०बी, ४१६, ४१७, ४२०, ४६४, ४६५, ४६८, ४७१, भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम, १९८८ की धारा १३(२) आर/डब्ल्यू १३(१)(डी) के तहत कार्रवाई की गई थी।

आरोपियों में रिंकी यादव, आशुलिपिक (ग्रेड-२), सरिता, अनिल कुमार, राहुल कुमार, अभय कुमार, मुकेश कुमार, चंदन कुमार, मनोज कुमार, प्रदीप कुमार, मनीष कुमार और धर्मेंद्र कुमार का नाम था। आरोप था कि ये लोग कर्मचारी चयन आयोग द्वारा वर्ष २०१२-१४ में आयोजित भर्ती परीक्षा में शामिल नहीं हुए थे।

इन लोगों ने परीक्षाओं में बैठने के लिए डमी उम्मीदवारों की व्यवस्था की और कर्मचारी चयन आयोग को गुमराह कर दिया। आरोपियों का आयकर विभाग में एमटीएस और आशुलिपिक के पद के लिए चयन हुआ था। मामला सामने आया तो जांच शुरू की गई। इन उम्मीदवारों की हैंडराइटिंग, सिग्नेचर और अंगूठे के निशान वाले पेपर और अन्य भर्ती कागजों का फॉरेंसिक एनालिसिस किया गया।

जांच में पाया गया कि १२ में से ९ उम्मीदवार रिंकी यादव, अनिल कुमार, राहुल कुमार, अभय कुमार, मुकेश कुमार, चंदन कुमार, मनोज कुमार, प्रदीप कुमार और मनीष कुमार परीक्षा में शामिल नहीं हुए थे। इन परीक्षाओं में उनकी ओर से डमी अभ्यर्थी शामिल हुए थे। अब इस मामले में नागपुर में सीबीआई की एंटी करप्शन टीम ने सोमवार को फर्जी उम्मीदवारों को बैठाने के आरोप में आयकर विभाग के सभी ९ अधिकारियों को गिरफ्तार कर लिया है।

Citizen Reporter

Report Your News

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

ठाणे जिले में मामूली सी बात पर सहकर्मी की लोहे की रॉड से हत्या... आरोपी गिरफ्तार ठाणे जिले में मामूली सी बात पर सहकर्मी की लोहे की रॉड से हत्या... आरोपी गिरफ्तार
31 वर्षीय सहकर्मी की हत्या करने के आरोप में 24 वर्षीय एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया गया है. पुलिस ने...
ठाणे में दहेज प्रताड़ना के आरोप में पति सहित नौ लोगों के खिलाफ मामला दर्ज...
चीन के बायोलैब में क्या बन रहे महाविनाशक वायरस... वैज्ञानिकों की चेतावनी ने सबको डराया, कोरोना से भी बड़ा खतरा
दो लोगों को अमेरिका के कैलिफोर्निया के गुरुद्वारे में लगी गोली... हालत गंभीर
अक्षय कुमार घायल घुटने के साथ कर रहे हैं शूटिंग, 'बड़े मियां छोटे मियां' के सेट पर दिखा जज्बा...
एक्ट्रेस Priyanka Chopra ने शेयर की बेटी मालती की ये बेड टाइम क्यूट फोटो...
अमृता राव ने सलमान खान की फिल्म को लेकर किया बड़ा खुलासा... मैनेजर ने छुपाया वांटेड का ऑफर

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media