राज्य में तीन पार्टियों की सरकार होने की वजह से उनके लिए कोई निर्वाचन क्षेत्र नहीं बचा - पंकजा मुंडे 

Due to three party government in the state, there is no constituency left for him - Pankaja Munde

राज्य में तीन पार्टियों की सरकार होने की वजह से उनके लिए कोई निर्वाचन क्षेत्र नहीं बचा - पंकजा मुंडे 

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहीं पंकजा मुडे रविवार को अपने गृह जिले बीड के दौरे पर पहुंची थी। इस दौरान उनसे पूछा गया कि राज्यसभा के लिए उनके नाम की चर्चा है। इसके जवाब में पंकजा मुंडे ने कहा 'बीते पांच वर्षों से हर चुनाव में मेरे नाम की चर्चा होती है। लोगों को लगता है कि वे किसी पद के इंतजार में हैं, इसलिए स्वभाविक है कि लोग मेरा नाम लेंगे।' मुंडे ने कहा कि 'अब राज्य में तीन पार्टियों की गठबंधन सरकार है, ऐसे में मेरे लिए कोई निर्वाचन क्षेत्र अब बचा ही नहीं है।' 

मुंबई :  भाजपा की राष्ट्रीय सचिव पंकजा मुंडे काफी समय से महाराष्ट्र की राजनीति में चर्चाओं से गायब हैं। अब एक बयान में उनका दर्द छलका है। उन्होंने कहा कि जब भी चुनाव आते हैं तो उनके नाम की चर्चा शुरू हो जाती है, लेकिन अब राज्य में तीन पार्टियों की सरकार होने की वजह से उनके लिए कोई निर्वाचन क्षेत्र बचा ही नहीं है। 

महाराष्ट्र सरकार में मंत्री रहीं पंकजा मुडे रविवार को अपने गृह जिले बीड के दौरे पर पहुंची थी। इस दौरान उनसे पूछा गया कि राज्यसभा के लिए उनके नाम की चर्चा है। इसके जवाब में पंकजा मुंडे ने कहा 'बीते पांच वर्षों से हर चुनाव में मेरे नाम की चर्चा होती है। लोगों को लगता है कि वे किसी पद के इंतजार में हैं, इसलिए स्वभाविक है कि लोग मेरा नाम लेंगे।' मुंडे ने कहा कि 'अब राज्य में तीन पार्टियों की गठबंधन सरकार है, ऐसे में मेरे लिए कोई निर्वाचन क्षेत्र अब बचा ही नहीं है।' 

महाराष्ट्र में अभी एकनाथ शिंदे की शिवसेना, भाजपा और अजित पवार की एनसीपी की गठबंधन सरकार है। पंकजा मुंडे महाराष्ट्र की राजनीति के दिग्गज नेता रहे गोपीनाथ मुंडे की बेटी हैं और देवेंद्र फडणवीस की सरकार में मंत्री भी रहीं थी। हालांकि 2019 के विधानसभा चुनाव में पंकजा मुंडे को उनके चचेरे भाई और एनसीपी नेता धनंजय मुंडे ने हरा दिया था।

उसके बाद से पंकजा मुंडे सत्ता के गलियारों से दूर हैं। धनंजय मुंडे फिलहाल महाराष्ट्र सरकार में कृषि मंत्री हैं।  पंकजा मुंडे से जब पूछा गया कि क्या वे लोकसभा का चुनाव लड़ेंगी या राज्यसभा जाएंगी तो उन्होंने कहा कि अब ये चुनाव करने में बहुत देर हो गई है। उन्होंने कहा कि उनके लिए सबसे ज्यादा अहम ये बात है कि बीड में उनके समर्थक क्या सोचते हैं और वे उन्हें कहां देखना चाहते हैं। 

Citizen Reporter

Report Your News

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

नवी मुंबई नगर निगम ने 4,950 करोड़ का अधिशेष बजट किया पेश नवी मुंबई नगर निगम ने 4,950 करोड़ का अधिशेष बजट किया पेश
बजट पेश करते हुए एनएमएमसी आयुक्त राजेश नार्वेकर ने कहा कि नगर निकाय ने कोई कर नहीं बढ़ाकर नागरिकों को...
नागपुर में पत्नी ने खाना बनाने से किया मना... पति ने बच्चों सहित पत्नी को बांधकर दी धमकी
लोकसभा चुनाव में मुंबई की सभी 6 सीटों पर महायुती लहराएगी विजय पताका
दो समूहों के बीच झड़प में घायल छात्र की मौत... भिवंडी में तनाव
हजारों डॉक्टरों ने किया राज्यव्यापी हड़ताल का एलान...
26 फरवरी को प्रधानमंत्री मोदी देशभर के 556 स्टेशन के पुनर्विकास परियोजना की रखेंगे आधारशिला...
कल्याण रेलवे स्टेशन के पास मिले 54 डेटोनेटर, बम स्क्वाड को मौके पर बुलाया गया आगे की जांच शुरू...

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media