शीतकालीन सत्र ; विपक्ष ने उठाई कर्जमाफी की मांग

winter session ; Opposition raised demand for loan waiver

शीतकालीन सत्र ; विपक्ष ने उठाई कर्जमाफी की मांग

नागपुर: महाराष्ट्र विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले दिन विपक्ष ने कृषि कर्ज माफी, धान की फसल पर बोनस और कपास व सोयाबीन के लिए अधिक न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की मांग करते हुए यहां विधान भवन में प्रदर्शन किया। शिवसेना (यूबीटी), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के शरद पवार गुट और कांग्रेस समेत महा विकास आघाड़ी (एमवीए) के वरिष्ठ नेताओं ने संतरे और कपास से बनी मालाएं पहनकर सरकार के खिलाफ नारे लगाए।

नागपुर: महाराष्ट्र विधानसभा के शीतकालीन सत्र के पहले दिन विपक्ष ने कृषि कर्ज माफी, धान की फसल पर बोनस और कपास व सोयाबीन के लिए अधिक न्यूनतम समर्थन मूल्य (एमएसपी) की मांग करते हुए यहां विधान भवन में प्रदर्शन किया। शिवसेना (यूबीटी), राष्ट्रवादी कांग्रेस पार्टी (एनसीपी) के शरद पवार गुट और कांग्रेस समेत महा विकास आघाड़ी (एमवीए) के वरिष्ठ नेताओं ने संतरे और कपास से बनी मालाएं पहनकर सरकार के खिलाफ नारे लगाए। उन्होंने कर्ज माफी, धान की फसल पर 1,000 रुपये के बोनस और कपास तथा सोयाबीन के लिए क्रमश: 14,000 रुपये और 18,000 रुपये की एमएसपी के रूप में किसानों को तत्काल राहत देने की मांग की। महाराष्ट्र विधानसभा का शीतकालीन सत्र सात दिसंबर से 20 दिसंबर तक चलने की संभावना है। इससे पहले विपक्ष ने सरकार की ओर सत्र की शुरुआत पर रखी गई चाय पार्टी का भी बॉयकॉट किया था। 


विधानसभा में विपक्ष के नेता विजय वडेट्टीवार ने पत्रकारों से बातचीत में कहा कि किसानों पर बेमौसम बारिश की मार पड़ी है जबकि लाखों किसानों को कपास और सोयाबीन के लिए उचित एमएसपी नहीं मिल रही है। वडेट्टीवार ने कहा कि सरकार केवल ‘पंचनामा’ (सर्वेक्षण) और घोषणाएं कर रही है। हम किसानों के खाते में निधि चाहते हैं न कि घोषणाएं। विधान परिषद में विपक्ष के नेता अंबादास दानवे, प्रदेश कांग्रेस अध्यक्ष नाना पटोले, एनसीपी नेता जयंत पाटिल और अनिल देशमुख तथा कांग्रेस नेता अशोक चह्वाण और बालासाहेब थोराट समेत एमवीए के अन्य नेताओं ने भी प्रदर्शन में भाग लिया। दानवे ने कहा कि बेमौसम बारिश और ओलावृष्टि के कारण किसानों पर गंभीर असर पड़ा है। उन्होंने किसानों के लिए कर्ज माफी की मांग की।
कस्बा पेठ से विधायक और कांग्रेस नेता रविंद्र धनगेकर ने मादक पदार्थ तस्कर ललित पाटिल से संबंध रखने वाले मंत्रियों के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की। उन्होंने पुणे के ससून हॉस्पिटल के पूर्व डीन संजीव ठाकुर की गिरफ्तारी की भी मांग की।

ललित पाटिल एक्स-रे के लिए अस्पताल लाए जाने के बाद दो अक्टूबर को वहां से फरार हो गया था जिसके बाद नौ पुलिस कर्मियों को निलंबित कर दिया गया था। जांच से पता चला कि पिछले साल मादक पदार्थ के एक मामले में गिरफ्तार पाटिल अस्पताल से मादक पदार्थ तस्करी का अपना गिरोह चला रहा था। उसे बाद में कर्नाटक में गिरफ्तार कर लिया गया था। पुणे पुलिस ने इस मामले में अस्पताल के चिकित्सा अधिकारी डॉ. प्रवीण देवकाते को गिरफ्तार किया है।

 

Citizen Reporter

Report Your News

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

नागपुर में पत्नी ने खाना बनाने से किया मना...  पति ने बच्चों सहित पत्नी को बांधकर दी धमकी नागपुर में पत्नी ने खाना बनाने से किया मना... पति ने बच्चों सहित पत्नी को बांधकर दी धमकी
महाराष्ट्र के नागपुर शहर के ओम नगर में एक हाई-वोल्टेज ड्रामा सामने आया जब एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और...
लोकसभा चुनाव में मुंबई की सभी 6 सीटों पर महायुती लहराएगी विजय पताका
दो समूहों के बीच झड़प में घायल छात्र की मौत... भिवंडी में तनाव
हजारों डॉक्टरों ने किया राज्यव्यापी हड़ताल का एलान...
26 फरवरी को प्रधानमंत्री मोदी देशभर के 556 स्टेशन के पुनर्विकास परियोजना की रखेंगे आधारशिला...
कल्याण रेलवे स्टेशन के पास मिले 54 डेटोनेटर, बम स्क्वाड को मौके पर बुलाया गया आगे की जांच शुरू...
नवी मुंबई में महंगा मोबाइल और कार का दिया लालच, 66 लाख रुपए डूबे

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media