केंद्रीय पर्यावरण विभाग ने 2 फ्लाई ओवर बनाने की दी हरी झंडी !, कुछ मिनट में तय होगी मढ़ से वर्सोवा की दूरी...

Central Environment Department has given green signal to build 2 flyovers, the distance from Madh to Versova will be covered in a few minutes...

केंद्रीय पर्यावरण विभाग ने 2 फ्लाई ओवर बनाने की दी हरी झंडी !, कुछ मिनट में तय होगी मढ़ से वर्सोवा की दूरी...

मनपा ने इसी के चलते मढ़ की अंधेरी वर्सोवा से जोड़ने के लिए फ्लाईओवर बनाने की योजना बनाई थी लेकिन उसके लिए केंद्रीय पर्यावरण की अनुमति लेना जरूरी था।केंद्रीय पर्यावरण विभाग द्वारा अनुमति मिलने के बाद अब फ्लाईओवर बनाने  का रास्ता साफ हो गया है।यह फ्लाईओवर  01.05 कि.मी. लम्बा और 27.05 मीटर चौड़ा होगा। इस नए फ्लाईओवर  बनने से दोनों ओर के  नागरिकों, छात्रों, मजदूर वर्ग, मछुआरों और व्यापारियों को राहत मिलेगी।

मुंबई : मढ वर्सोवा फ्लाईओवर बनाने के लिए केंद्रीय पर्यावरण विभाग ने हरी झंडी दे दी है। मलाड और अंधेरी से मढ की दूरी मात्र 1 से 1,30 किमी होने के बावजूद लोगों को मढ़ जाने के लिए नाव का सहारा लेना पड़ता था अथवा बोरीवली से आवागमन करना पड़ता था। मनपा ने मढ जाने के लिए फ्लाईओवर बनाने का निर्णय लिया था जिसकी अब केंद्रीय पर्यावरण ने अनुमति दी। फ्लाईओवर बनाने के लिए मनपा 700 करोड़ रुपए खर्च करेगी।

उल्लेखनीय है कि अंधेरी वर्सोवा और मलाड से काफी करीब होने के बावजूद मढ़ जाने के लिए बोरीवली से घूम कर जाना पड़ता है जिससे वाहन चालकों को लगभग 20 से 22 किमी दूरी तय करनी पड़ती है। मढ़ से वर्सोवा तक जाने के लिए अभी तक सार्वजनिक परिवहन सेवा का एक मात्र उपाय मतलब नाव से आवागमन करना पड़ता था।नाव सेवा भी मानसून के समय बंद कर दी जाती है और सार्वजनिक छुट्टी के समय भी बंद रहती है जिससे नागरिकों को बड़ी परेशानी झेलनी पड़ती है।

मनपा ने इसी के चलते मढ़ की अंधेरी वर्सोवा से जोड़ने के लिए फ्लाईओवर बनाने की योजना बनाई थी लेकिन उसके लिए केंद्रीय पर्यावरण की अनुमति लेना जरूरी था।केंद्रीय पर्यावरण विभाग द्वारा अनुमति मिलने के बाद अब फ्लाईओवर बनाने  का रास्ता साफ हो गया है।यह फ्लाईओवर  01.05 कि.मी. लम्बा और 27.05 मीटर चौड़ा होगा। इस नए फ्लाईओवर  बनने से दोनों ओर के  नागरिकों, छात्रों, मजदूर वर्ग, मछुआरों और व्यापारियों को राहत मिलेगी।

सामाजिक कार्यकर्ताओं को डर है कि मढ़-वर्सोवा पुल के प्रस्तावित निर्माण से ट्रैफिक जाम की स्थिति तो दूर होगी। लेकिन क्षेत्र में नागरिक सुविधाओं पर बोझ बढ़ जाएगा। इसके अलावा प्रस्तावित फ्लाईओवर से  स्थानीय मछली पकड़ने की गतिविधियों, मछली सुखाने के स्थानों, नावों और मछली पकड़ने के जालों की मरम्मत आदि को नष्ट कर देगा। इसके अलावा मौजूदा वर्सोवा मढ़  नौका सेवा बंद हो जाएगी स्थानीय लोगों का रोजगार खत्म हो जाएगा. 

Citizen Reporter

Report Your News

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

नागपुर में पत्नी ने खाना बनाने से किया मना...  पति ने बच्चों सहित पत्नी को बांधकर दी धमकी नागपुर में पत्नी ने खाना बनाने से किया मना... पति ने बच्चों सहित पत्नी को बांधकर दी धमकी
महाराष्ट्र के नागपुर शहर के ओम नगर में एक हाई-वोल्टेज ड्रामा सामने आया जब एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और...
लोकसभा चुनाव में मुंबई की सभी 6 सीटों पर महायुती लहराएगी विजय पताका
दो समूहों के बीच झड़प में घायल छात्र की मौत... भिवंडी में तनाव
हजारों डॉक्टरों ने किया राज्यव्यापी हड़ताल का एलान...
26 फरवरी को प्रधानमंत्री मोदी देशभर के 556 स्टेशन के पुनर्विकास परियोजना की रखेंगे आधारशिला...
कल्याण रेलवे स्टेशन के पास मिले 54 डेटोनेटर, बम स्क्वाड को मौके पर बुलाया गया आगे की जांच शुरू...
नवी मुंबई में महंगा मोबाइल और कार का दिया लालच, 66 लाख रुपए डूबे

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media