प्रियंका चतुर्वेदी घरों पर बुलडोजर चलाने के विरोध में हुईं ट्रोल

प्रियंका चतुर्वेदी घरों पर बुलडोजर चलाने के विरोध में हुईं ट्रोल

मुंबई: शिवसेना की सांसद प्रियंका चतुर्वेदी अपने एक ट्वीट की वजह से ट्रोलर्स के निशाने पर आ गईं हैं। दरअसल उन्होंने अपराधियों के घरों पर बुलडोजर चलाने के फैसले को गलत बताया है। उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा है कि यह फैसला बताता है कि सत्ता के नशे में सरकार किस हद तक चूर है। जिसके चलते वह न्यायपालिका का काम भी खुद ही कर रही है। सरकार खुद ही तय कर रही है कि किसके घर पर बुलडोजर चलाना है और किसके घर पर नहीं। उन्होंने लिखा है कि खुलेआम सरकार लोकतांत्रिक और संवैधानिक मूल्यों को खत्म कर रही है। प्रियंका ने इसे शर्मनाक बताया है।

दरअसल उन्होंने इशारों में उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ पर निशाना साधा है। यूपी में आदित्यनाथ बुलडोजर बाबा के नाम से भी मशहूर हैं। यूपी के बाद अब मध्य प्रदेश के सीएम शिवराज सिंह चौहान भी इसी राह पर चल रहे हैं।

Read More मुंबई कोस्टल रोड और बांद्रा-वर्ली सी लिंक को जोड़ने वाला दूसरा बो आर्क स्ट्रिंग गर्डर सफलतापूर्वक स्थापित

प्रियंका चतुर्वेदी के इस ट्वीट के बाद सोशल मीडिया पर ट्रोलर्स ने उन्हें ट्रोल करना शुरू कर दिया है। ट्विटर पर आनंद रंगनाथन ने लिखा है कि जब कंगना रनौत के मुंबई स्थित घर पर बीएमसी का बुलडोज़र चला था तब क्या संवैधानिक मूल्यों का हनन नहीं हुआ था। उस समय भी तो कोर्ट के फैसले का इंतज़ार नहीं किया गया था। आपको बता दें कि अभिनेता सुशांत सिंह राजपूत मौत मामले में कंगना रनौत और महाविकास अघाड़ी सरकार आमने सामने आ गए थे।

Read More घाटकोपर होर्डिंग ढहने की घटना: भावेश भिड़े को मुंबई पुलिस ने किया गिरफ्तार

ट्विटर पर ही अंकित सिंह ने शिवसेना के मुखपत्र सामना अखबार के एक प्याज को शेयर किया है। जो कंगना रनौत के घर पर हुई तोड़क कार्रवाई के बाद दूसरे दिन की है। अखबार में उस दिन ‘उखाड़ दिया’ हेडलाइन थी। इसके जरिये भी प्रियंका चतुर्वेदी पर निशाना साधने की कोशिश की गयी है।

Read More 74 दिनों में 241 लोग हुए हीट स्ट्रोक का शिकार

सोशल मीडिया पर ही दर्शन पाठक ने तंज कसते हुए लिखा है, ‘ लगता है कि प्रियंका चतुर्वेदी अपनी पार्टी के खिलाफ बोल रही हैं। हालाँकि वो तोड़ा लेट हैं। लगता है कि पार्टी में आंतरिक डेमोक्रेसी है लेकिन विरोधी इसे स्वीकार नहीं करंगे।

Read More घाटकोपर क्षतिग्रस्त वाहनों को वापस लेना और उन पर बीमा का दावा करने ,थर्ड पार्टी बीमा वाले वाहनों के लिए एफआईआर की आवश्यकता

कोई पहला मामला नहीं जब प्रियंका चतुर्वेदी ट्रोलर्स के निशाने पर आईं हों। इसके पहले भी ऐसे कई वाकये पेश आ चुके हैं।

Tags:

Today's E Newspaper

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

मुंबई: 4 जून को शहर में 'ड्राई डे' के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका  मुंबई: 4 जून को शहर में 'ड्राई डे' के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका
मुंबई: एसोसिएशन ऑफ ओनर्स ऑफ होटल्स, रेस्टोरेंट्स, परमिट रूम्स एंड बार्स (एएचएआर) ने बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है,...
पुणे कार दुर्घटना में नाबालिग आरोपी के पिता को 24 मई तक पुलिस हिरासत में भेजा गया
शाहरुख खान की तबीयत अचानक बिगड़ने, डिहाइड्रेशन और हीटस्ट्रोक के चलते केडी अस्पताल में भर्ती
मुंबई विश्वविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया शुरू, विवरण देखें
मुंबई में एन, एस और टी वार्ड में 24 घंटे पानी की कटौती
घाटकोपर क्षतिग्रस्त वाहनों को वापस लेना और उन पर बीमा का दावा करने ,थर्ड पार्टी बीमा वाले वाहनों के लिए एफआईआर की आवश्यकता
मुंबई: जिला महिला जेल में परिवार सहायता डेस्क का उद्घाटन

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media