उरण में कंटेनर की टक्कर से एक दिन में दो की मौत !

Two killed in one day due to container collision in Uran!

उरण में कंटेनर की टक्कर से एक दिन में दो की मौत !

उरण में गाव से चिरनेर मार्ग पर दो कंटेनर दुर्घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गयी है. ऐसे में एक बार फिर उरण की सड़कों पर होने वाले हादसों की चर्चा सामने आ गई है. इस दुर्घटना से उरण के नागरिकों में आक्रोश है और सड़क पर जगह-जगह गड्ढे हो गये हैं. फिर भी भारी कंटेनर वाहनों की टक्कर से जान जा रही थी।

उरण: उरण में गाव से चिरनेर मार्ग पर दो कंटेनर दुर्घटनाओं में दो लोगों की मौत हो गयी है. ऐसे में एक बार फिर उरण की सड़कों पर होने वाले हादसों की चर्चा सामने आ गई है. इस दुर्घटना से उरण के नागरिकों में आक्रोश है और सड़क पर जगह-जगह गड्ढे हो गये हैं. फिर भी भारी कंटेनर वाहनों की टक्कर से जान जा रही थी।

भले ही अब सड़कें बेहतर हो गई हैं, लेकिन ये संकट अभी भी है और बढ़ गया है. नागरिकों ने चेतावनी दी है कि यातायात व्यवस्था इन अवैध व गैर कानूनी वाहनों पर लगाम लगाये, अन्यथा उरांकारों को एक बार फिर सड़क पर उतरना पड़ेगा. जेएनपीटी बंदरगाह के कारण, द्रोणागिरी और उरण के गोदाम क्षेत्रों में यातायात सड़कों पर अवैध भारी कंटेनर वाहन पार्क किए जा रहे हैं।

इसके चलते वाहनों और भारी कंटेनरों की टक्कर में कई लोगों की जान जा चुकी है। इस हादसे में परिवार के सदस्यों को खोने से कई लोगों की जान पर बन आई है. सड़क पर ये यमदूत रूपी कंटेनर और कितने शिकार करते हैं, ये मोटर चालकों और जनता को पूछने की ज़रूरत है? क्योंकि इनमें से अधिकतर दुर्घटनाएं सड़क पर खड़े अवैध कंटेनर वाहनों या तेज रफ्तार कंटेनर वाहन की चपेट में आने से होती हैं।

जेएनपीटी बंदरगाह से माल लेकर आने वाले दस हजार से अधिक कंटेनर वाहन प्रतिदिन उरण के दोनों राष्ट्रीय राजमार्गों पर आ-जा रहे हैं। इन कंटेनर वाहनों की लापरवाही के कारण 34 वर्षों में सैकड़ों बाइक चालकों की जान जा चुकी है। पहले संकीर्ण और गड्ढों वाली सड़क के कारण, अब सड़क के चौड़ीकरण के बाद जेएनपीटी बंदरगाह से नवी मुंबई और पलास्पे दोनों मार्गों पर अवैध रूप से पार्क किए गए कंटेनर वाहनों की अप्रत्याशितता के कारण कई लोगों की जान चली गई है।

जेएनपीटी से किला (नवी मुंबई) और जेएनपीटी से पलास्पे तक जेएनपीटी बंदरगाह को जोड़ने वाली दोनों राष्ट्रीय सड़कों पर उरण समाज संस्थान के आंदोलन के कारण, यात्री यातायात और गांवों को जोड़ने के लिए सेवा सड़कों का निर्माण किया गया है। हालांकि, कंटेनर वाहनों के कारण ये सेवा मार्ग पार्किंग स्थल बन गए हैं।

इसलिए यात्री और दोपहिया वाहन मुख्य सड़क का उपयोग कर रहे हैं। इसके परिणामस्वरूप इन वाहनों से होने वाली दुर्घटनाओं में वृद्धि हुई है। उरण के नागरिकों द्वारा बार-बार अनुरोध के बावजूद उरण में दोनों राष्ट्रीय राजमार्गों पर सेवा मार्ग शुरू करने की मांग पूरी नहीं होने से नाराजगी व्यक्त की जा रही है।

Citizen Reporter

Report Your News

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

नागपुर में पत्नी ने खाना बनाने से किया मना...  पति ने बच्चों सहित पत्नी को बांधकर दी धमकी नागपुर में पत्नी ने खाना बनाने से किया मना... पति ने बच्चों सहित पत्नी को बांधकर दी धमकी
महाराष्ट्र के नागपुर शहर के ओम नगर में एक हाई-वोल्टेज ड्रामा सामने आया जब एक व्यक्ति ने अपनी पत्नी और...
लोकसभा चुनाव में मुंबई की सभी 6 सीटों पर महायुती लहराएगी विजय पताका
दो समूहों के बीच झड़प में घायल छात्र की मौत... भिवंडी में तनाव
हजारों डॉक्टरों ने किया राज्यव्यापी हड़ताल का एलान...
26 फरवरी को प्रधानमंत्री मोदी देशभर के 556 स्टेशन के पुनर्विकास परियोजना की रखेंगे आधारशिला...
कल्याण रेलवे स्टेशन के पास मिले 54 डेटोनेटर, बम स्क्वाड को मौके पर बुलाया गया आगे की जांच शुरू...
नवी मुंबई में महंगा मोबाइल और कार का दिया लालच, 66 लाख रुपए डूबे

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media