मनपा और राज्य स्वास्थ्य तंत्र सतर्क…स्क्रब टाइफस ने बढ़ाई टेंशन!

मनपा और राज्य स्वास्थ्य तंत्र सतर्क…स्क्रब टाइफस ने बढ़ाई टेंशन!

Rokthok Lekhani

Read More मानखुर्द पुलिस ने मिहिर कोटेचा के खिलाफ मामला दर्ज किया

मुंबई : हिंदुस्थान में एक तरफ कोरोना के मामले बढ़ रहे हैं और चौथी लहर आने की स्थिति पैदा हो गई है। इसी बीच एक और बीमारी ने लोगों की टेंशन बढ़ा दी है। देश के कई राज्यों में स्क्रब टायफस ने आतंक मचा रखा है। इस बीमारी को लेकर चिकित्सा जानकारों ने चेताते हुए कहा है कि सावधान रहें, नहीं तो जान आफत में पड़ सकती है।

Read More पुणे में 3 करोड़ की कार से युवक-युवती को कुचला, नाबालिग के खिलाफ केस दर्ज

लक्षण दिखाई देने पर तत्काल उपचार कर बीमारी को ठीक किया जा सकता है। बताया गया है कि कोलकाता में इस बीमारी के कई मामले सामने आए हैं, जिसने वेंâद्रीय स्वास्थ्य तंत्र को चिंता में डाल दिया है। इस बीमारी को लेकर राज्य का समूचा स्वास्थ्य विभाग एवं मुंबई मनपा पूरी तरह से मुस्तैद और सतर्क हो गए हैं। स्वास्थ्य विभाग के मुताबिक यह बीमारी मुंबई और महाराष्ट्र में आती है तो इसे शिकस्त देने के लिए सभी जरूरी तैयारियां की गई हैं। ऐसे में बीमारी को लेकर लोगों को घबराने की जरूरत नहीं है।

Read More 'कॉर्पोरेट बुर्का पहनने वाली महिलाओं को नौकरी पर नहीं रखते': चेंबूर कॉलेज ने हिजाब प्रतिबंध को सही ठहराया

चिकित्सा जानकारों के मुताबिक इस बीमारी का सर्वाधिक शिकार छोटे बच्चे हो रहे हैं। पाक सर्कल इंस्टीट्यूट ऑफ चाइल्ड हेल्थ द्वारा दी गई जानकारी के अनुसार बीते ३ सप्ताह में करीब १० बच्चों में स्क्रब टायफस के लक्षण पाए गए हैं। उन सभी को अस्पताल में भर्ती किया गया है। पश्चिम बंगाल में स्थित कुल ४४ लैब में स्पेशल किट भेजे गए हैं।

Read More महारेरा ने सेवानिवृत्ति घरों और वरिष्ठ नागरिक आवास परियोजनाओं के लिए विशिष्टताएँ जारी कीं

डॉक्टरों के मुताबिक यह बीमारी एक खास कीट से फैलती है। वर्तमान जलवायु के दौरान प्रकोप तेज हो गया है। विशेषज्ञों का कहना है कि एडीज मच्छर के काटने से डेंगू होता है। साथ ही थोंब्रोसाइटोपेनिक माइट्स नामक कीट शरीर में प्रवेश कर जाता है और शरीर में स्क्रब टाइफस के बैक्टीरिया पनपने लगते हैं। अगर इस बीमारी का जल्द पता चल जाए तो इलाज किया जा सकता है लेकिन देर होने पर यह जीवाणु जानलेवा हो जाता है।

सामान्य बुखार की तरह बदन दर्द, शरीर में कीड़े के काटने जैसे घाव, सिरदर्द, हाथ-पैर में तेज दर्द, आंखों में दर्द, उल्टी और पेट की समस्या जैसे लक्षण शामिल हैं। अगर आपको बिना सर्दी-जुकाम के ४-६ दिनों तक बुखार रहता है तो इन लक्षणों को सामान्य मानकर नजरअंदाज न करें। पैरासिटामोल लेने में देरी न करें। मरीजों को तुरंत डॉक्टर को दिखाना चाहिए।


Tags:

Today's E Newspaper

Join Us on Social Media

Download Free Mobile App

Download Android App

Follow us on Google News

Google News

Rokthok Lekhani Epaper

Post Comment

Comment List

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media

Latest News

मुंबई: 4 जून को शहर में 'ड्राई डे' के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका  मुंबई: 4 जून को शहर में 'ड्राई डे' के खिलाफ बॉम्बे हाई कोर्ट में याचिका
मुंबई: एसोसिएशन ऑफ ओनर्स ऑफ होटल्स, रेस्टोरेंट्स, परमिट रूम्स एंड बार्स (एएचएआर) ने बॉम्बे हाई कोर्ट का दरवाजा खटखटाया है,...
पुणे कार दुर्घटना में नाबालिग आरोपी के पिता को 24 मई तक पुलिस हिरासत में भेजा गया
शाहरुख खान की तबीयत अचानक बिगड़ने, डिहाइड्रेशन और हीटस्ट्रोक के चलते केडी अस्पताल में भर्ती
मुंबई विश्वविद्यालय में प्रवेश प्रक्रिया शुरू, विवरण देखें
मुंबई में एन, एस और टी वार्ड में 24 घंटे पानी की कटौती
घाटकोपर क्षतिग्रस्त वाहनों को वापस लेना और उन पर बीमा का दावा करने ,थर्ड पार्टी बीमा वाले वाहनों के लिए एफआईआर की आवश्यकता
मुंबई: जिला महिला जेल में परिवार सहायता डेस्क का उद्घाटन

Advertisement

Sabri Human Welfare Foundation

Join Us on Social Media